Chirag Tale Andhera: Truth of life

Chirag Tale Andhera PART:1 ये कैसी तनहाई ये कैसी तनहाई कुछ उलझी सी सच्चाई राते काटे नहीं है कटती कुछ ऐसी उलझन सी छाई                             बदली घिरी  हुयी है नभ मे             वर्षा हुई नहीं है मग में             प्यासा बैठा हूं इस जग में             ऐसी अन्हियारी है छायी             मंजिल दूर खड़ी …

Chirag Tale Andhera: Truth of life Read More »