Bhataka Pathik- A True story



Bhatka Pathik
Bhataka Pathik
 
 

BHATAKA PATHIK

https://youtu.be/5ti-CKpG1T0

Part-1

रंगीन सपनों को, बुन कर वो आया
मिला हाथ आंधी से, लड़कर वो आया
सपने दिखा कर, किधर लड़खड़ाया
ना मंजिल दिखी, ना दिखी कोई छाया
चला चाल ऐसी, की मंजिल भी बोली
किधर चल दिए, क्या करने था आया
पथिक बोल बैठा, जरा सा डरा हूं
सहारा हूं उनका, बेसहारा पड़ा हूं….

 

मेरी मां, तरक्की के खातिर है भूखी
कई देवता को, मनाने में सुखी
मंदिर-शिवाला के चक्कर लगाती
कहीं पीर बाबा से ताबीज गढ़वाती
आशा की सीढ़ी पर, मां भी खड़ी है
जहां छोड़ आया, वही वो अड़ी है
यही सोचकर मैं, जरा सा डरा हूं
सहारा हूं उनका, बेसहारा पड़ा हूं……

 

ना सुध है बटोही को, रास्ता किधर है
जहाँ से चला था, खड़ा भी उधर है
घने कोहरे से, मैं लड़ने था आया
अभी ढूंढता हूं, किधर से मैं आया
क्या मां-बाप के जज्बातों पर खरा हूं..?
या उनकी तपस्या का खोटा सिरा हूं…?
यही सोच कर मैं जरा सा डरा हूं
सहारा हूं उनका, बे सहारा पड़ा हूं…..

 Part-2

समर में हथियार डाल दूं ऐसा नहीं हूं मैं
हैरान हूं, परेशान हूं पर रुका नहीं हूं मैं

वह अक्सर कहता है की जहालत होगी तेरी 
सोच के डरा हूं, सहमा हूं पर रुका नहीं हूं मैं

मौत अगर आनी है तो सीना ताने खड़ा हूं मैं
निहत्था हूं, घायल हूं फिर भी रुका नहीं हूं मैं

                   समर में हथियार डाल दूं ऐसा नहीं हूं मैं…..

बड़ी बड़ी बातें करके निकला है घर से तू
समझता हूं, लड़ रहा हूं अभी मरा नहीं हूं मैं

वह मुझे मुर्दा समझने की भूल कैसे कर बैठा
सांसे रुकी हैं, शरीर ठंडा है पर खड़ा  हूं मैं

यह सांसो का रुकना दबे तूफान का संकेत है
योद्धा हूं, समर में निकला हूं कायर  थोड़ी हूं मैं

                   समर में हथियार डाल दूं ऐसा नहीं हूं मैं….

वो कहते हैं बड़ी अजीब सी बातें करते हो तुम
विद्रोही हूं औघड़ हूं लेकिन चिकना घड़ा नहीं हूं मैं

मैं अक्सर अपने दर्द को कलम  से सींचता  हूं
इसलिए लिखता हूं, भावुक हूं पर कवि नहीं हूं मैं

एक दिन निकलूंगा इन चार दीवारों के बीच से मैं
भूखा हूं, तलाश मे हूं पर अभी मिला नहीं हूं मैं

                     समर में हथियार डाल दूं ऐसा नहीं हूं मैं….

 

                                                                              SANU PANDEY



26 thoughts on “Bhataka Pathik- A True story”

  1. ……. Jarurat hi yanro mujhe ab aap ki, ki dare es man ka sahara ab tu hi h…… 'sagar rupi dil aur samay se bhi tej man ki gahri me ja kr,es sachchi ko apne bichar rupi kalam se gajab likha hi aap ne….' Thanks

  2. Hey! I know tһiѕ is kinda off topic but I was wondering if you knew whеre
    I ϲouⅼd find a caⲣtcһa plugin for my comment form?
    I’m uѕing the ame blog plаtform as yourѕ and I’m having trouble fіndiing օne?
    Thanks a lot!

  3. Nice post. Ι was checking continuously this blog and I’m impressed!

    Extremely helpful іnformation specially thе last pɑrt 🙂 Ӏ
    caare foor succh infоrmation a lot. I ᴡas lоoking foor this pаrticular info fⲟr а ⅼong time.
    Thank yoᥙ аnd Ьest of luck.

  4. I am rеally inspired t᧐gether ԝith yoᥙr writing abilities ɑnd also with the format on your blog.
    Is that this a paid subject maztter οr did youu
    modify іt үourself? Anywаy kеep up the excellent quality writing,
    it iѕ rare too peer a great weblog liҝе this one tese ԁays..

  5. Very good blog youu have here butt I was wanting to know if you
    knew of any forums that cover the same topics discussed here?
    I’d really like to be a part of group where I can get
    responses from other experienced indivviduals that share the same interest.
    If you have any recommendations, please let
    me know. Thank you!

  6. I think this is one of the most significant info for me.

    And i amm glkad reading your article. But wannt to
    emark on feww general things, Thhe website style is perfect, the articles is really excellent : D.
    Goood job, cheers

  7. I јust couldn’t leve your site ƅefore suggesting tһat I aϲtually loved the usuyal informaion а person supply оn your visitors?Is going to bbe again frequently іn ᧐rder
    to check up ⲟn new posts

  8. I tһink that is among the so mch ѕignificant іnformation forr
    me. And i am satisfied reading your article.
    Ᏼut wanna commentary օn some common issues, Ꭲһe site taste іs
    perfect, the articles is in reality excellent : D. Juust гight activity,
    cheers

  9. I’m trսly enjoying thе desin and layout of your website.
    Ιt’s a very easy on the eyes ᴡhich makes іt much morе pleasant fߋr me to come һere and visit moгe
    often. Did ʏou hire oսt a designer to ϲreate your theme?
    Exceptional ѡork!

  10. This is very attention-grabbing, You are an overly skilled blogger.
    I’ve joined your rss feed and sit up for in the hunt
    for extra of your wonderful post. Additionally,
    I have shared your site in my social networks

Leave a Comment

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *